लोथल- एक समृद्ध संस्कृति वाले पौराणिक नगर की कहानी देखिये अपनी कल्पना की आँखों से

लोथल, इस पौराणिक नगर में आप का स्वागत है


लोथल एक दुनिया की सबसे प्रचिन्ग एवं ऐतिहासिक जगह है जो गुजरात राज्य के भाल जिले में स्थित है।

लोथल केवल एक पुराणिक नगर नहीं हे, बल्कि ये अपनी सुगम नगर रचना और उस समय के सर्व श्रेष्ठ धातु विज्ञानं के लिए आज भी सुप्रसिद्ध हे।



ASI यानिकि Archaeological Survey of India के अनुसार, लोथल के पास दुनिया का सबसे पहला ज्ञात डॉक था, जो शहर को प्राचीन साबरमती नदी से जोड़ता था।


यह सिंध में हड़प्पा शहरों और सौराष्ट्र के प्रायद्वीप के बीच का व्यापार मार्ग था जब आज के कच्छ रेगिस्तान के आसपास की भूमि अरब सागर का हिस्सा थी।


लोथल प्राचीन काल में एक महत्वपूर्ण और संपन्न व्यापार केंद्र था, जिसमें पश्चिम एशिया और अफ्रीका के सुदूर कोनों तक पहुंचने वाले मोतियों, रत्नों और मूल्यवान आभूषणों का व्यापार होता था। लोथल के पुराणिक लोग बिड बना ने में और धातु विज्ञानं में इतने पारंगत थे की उस समय की तकनीके एवं उपकरण 4000 साल से भी ज्यादा समय तक परिस्थितिओ की मार सहन करने के बावजूद भी बचे रहे ।